B.Ed 2 Model Paper : Development of Education System in India and its Challenges

UPSSSC Combined Lower Second 2016 Result 2020

B.Ed 2 Model Paper : Development of Education System in India and its Challenges : छत्रपति शाहू जी महाराज विश्वविद्यालय कानपुर (CSJMU KANPUR) के बीएड द्वितीय वर्ष 2020 (B.Ed 2nd Year 2020) के वार्षिक परीक्षा के लिए सबसे सम्भावित पेपर बीएड-2 मॉडल पेपर 2020 (B.Ed-2 Model Paper 2020) जिसका शीर्षक “Development of Education System in India and its Challenges” है, विद्यादूत के विषय-विशेषज्ञों ने तैयार किया है | B.Ed 2 Model Paper (B.Ed 2nd Year Model Question Paper) के पहले बीएड प्रथम वर्ष मॉडल पेपर 2020 (B.Ed First Year Model Paper 2020) के सभी मॉडल पेपर विद्यादूत में प्रस्तुत किये जा चुके है | B.Ed 2 Model Paper का प्रस्तुत पेपर “development of education system in india and its challenges” छत्रपति शाहू जी महाराज यूनिवर्सिटी कानपुर के द्विवर्षीय बीएड पाठ्यक्रम के बीएड द्वितीय वर्ष के प्रथम प्रश्नपत्र पर आधारित है |

CSJMU B.Ed Second Year Examination Model Paper 2020 विद्यार्थियों को बीएड द्वितीय वर्ष एग्जाम पेपर 2020 (B.Ed Model Paper 2020) के प्रारूप को समझने में अहम भूमिका निभाएगा |

ये भी देखें – B.Ed Second Year Model Paper Four

B.Ed Second Year Model Paper Third

यह बीएड मॉडल पेपर 2020 (B.Ed Model Paper 2020) विद्यार्थियों को B.Ed 2nd Year Examination 2020 में अच्छे नम्बर प्राप्त करने में मदद करेगा | B.Ed 2 Model Paper ‘Development of Education System in India and its Challenges’

छत्रपति शाहूजी महाराज यूनिवर्सिटी (Chhatrapati Shahu Ji Maharaj University) के बीएड सेकंड ईयर एग्जामिनेशन 2020 (B.Ed Second Year Examination 2020) का यह पहला मॉडल पेपर (B.Ed 2 Model Paper) है |

ये भी देखें – UGC NET Paper 1 Study Material

इसके पूर्व बीएड फर्स्ट ईयर एग्जाम 2020 (B.Ed First Year Examination 2020) के सभी पेपर के मॉडल पेपर(Model Papers of B.Ed Exam) विद्यादूत में प्रस्तुत किये जा चुके है, जिनका लिंक नीचे दिया जा रहा है –

CSJMU B.Ed 2nd Year 2020 Examination (B.Ed 2nd Year Paper 1 Model Paper 2020) के प्रथम पेपर (DEVELOPMENT OF EDUCATION SYSTEM IN INDIA AND ITS CHALLENGES) के सिलेबस को 5 यूनिट्स में विभाजित किया गया है, जो इस प्रकार है –

  1. Education in Ancient and Medieval India
  2. Education during British Period
  3. Education in Post Independence Period
  4. Present Scenario of Indian Education
  5. Challenge of Indian Education System

ये भी देखें – कानपुर यूनिवर्सिटी से बदला चैलेंज मूल्यांकन, होगा विद्यार्थियों को फायदा

उपरोक्त 5 यूनिट के आधार पर बीएड सेकंड ईयर 2020 (B.Ed 2nd Year Exam Paper 2020) का पेपर तैयार किया जायेगा | B.Ed 2 Model Paper, “DEVELOPMENT OF EDUCATION SYSTEM IN INDIA AND ITS CHALLENGES” इस प्रकार है –

B.Ed. Part 2 Examination Model Paper 2020 Paper First

B.Ed 2 Model Paper : Development of Education System in India and its Challanges

नोट : सभी खण्डों से निर्देश के अनुसार प्रश्नों के उत्तर दें |

निर्देश : अभ्यर्थी प्रश्नों के उत्तर क्रम के अनुसार लिखें | यदि किसी प्रश्न के कई भाग हों तो उनके उत्तर एक ही तारतम्य में लिखे जायें |

खण्ड अ : लघु उत्तरीय प्रश्न

नोट : सभी प्रश्न अनिवार्य हैं | प्रत्येक प्रश्न 4 अंकों का है |

1. (a) वैदिक काल की शिक्षा के महत्व बताये |

(b) बौद्ध कालीन शिक्षा का अर्थ व उद्देश्य बताये |

(c) पबज्जा संस्कार और उपसम्पदा संस्कार में अंतर बताये |

(d) मध्यकालीन शिक्षा के उद्देश्य क्या थें |

(e) वुड के घोषणा पत्र – 1854 की प्रमुख सिफारिशें क्या है |

(f) लार्ड कर्जन के शिक्षा सम्बन्धी सुधारों का संक्षिप्त वर्णन करें |

(g) सैडलर आयोग – 1917 की प्रमुख सिफारिशे क्या थी |

(h) वर्धा शिक्षा योजना (बुनियादी शिक्षा योजना) को स्पष्ट करें और उसके गुण-दोष बताये |

खण्ड ब : दीर्घ उत्तरीय प्रश्न

नोट : किन्ही दो प्रश्नों के उत्तर दें | प्रत्येक प्रश्न 12 अंकों का है |

2. 1882 के भारतीय शिक्षा आयोग (हंटर आयोग) की नियुक्ति के कारणों और इसकी मुख्य सिफारिशों का वर्णन करें |

3. लार्ड कर्जन के शिक्षा सम्बन्धी सुधारों का वर्णन करें |

4. सार्जेंट योजना के महत्व और इसकी मुख्य सिफारिशों पर बताएं |

5. निम्नलिखित पर संक्षिप्त टिप्पणियाँ लिखें –

(a). राष्ट्रीय शिक्षा नीति-1986

(b) NCTE, NAAC, NCERT, SCERT, DIET

खण्ड स : दीर्घ उत्तरीय प्रश्न

नोट : किन्ही दो प्रश्नों के उत्तर दें | प्रत्येक प्रश्न 12 अंकों का है |

6. निम्नलिखित पर संक्षिप्त टिप्पणियाँ लिखें –

(a). राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान

(b). कोठारी आयोग के उच्च शिक्षा सम्बन्धी मुख्य सुझाव

7. विश्वविद्यालय शिक्षा आयोग (राधाकृष्णन आयोग) द्वारा भारतीय विश्वविद्यालय शिक्षा में सुधार से सम्बन्धित सिफारिशों का वर्णन करें |

8. दूरस्थ शिक्षा का अर्थ, उद्देश्य और महत्व को बताएं |

9. माध्यमिक शिक्षा आयोग (मुदालियर आयोग) की मुख्य सिफारिशों का वर्णन करें | उनका किस सीमा तक कार्यान्वयन किया गया है |

नोट : विद्यादूत (विद्यादूत वेबसाइट) के सभी पोस्ट कॉपीराइट के अधीन आते है |

ये भी देखें – UGC NET Previous Year Exam Paper PDF Free Download

उपरोक्त बीएड 2 मॉडल पेपर 2020 (B.Ed 2 Model Paper : Development of Education System in India and its Challenges) का उत्तर आप पॉइंट (बिन्दुओं) में लिखकर याद करें | जल्द ही इन प्रश्नों का उत्तर आपको vidyadoot youtube channel में मिल जायेगा | आप विद्यादूत के यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब जरुर करें |

जल्द ही CSJMU B.Ed Part 2 के सभी पेपर के मॉडल पेपर विद्यादूत में पोस्ट कर दिए जायेंगें | B.Ed Second Year 2020 Paper First Model Paper से सम्बन्धित अगर किसी प्रश्न का उत्तर आपको नही मिल पा रहा है तो आप नीचे कमेंट बॉक्स के माध्यम से विद्यादूत के एक्सपर्ट से प्रश्न पूछ सकते है |

अगर आपको यह पोस्ट अच्छी और उपयोगी लगी हो तो आप हमे प्रोत्साहित करने के लिए इस पोस्ट को अपने फ्रेंड्स और सोशल मीडिया पर शेयर जरुर करें |

जल्द ही B.Ed 2nd Year Exam (B.Ed 2nd Year Model Question Paper) के निम्नलिखित पेपर के मॉडल पेपर प्रस्तुत किये जा चुके हैं –