बातचीत से भी फैलता है कोरोना वायरस, ताजा शोध

कोरोना वायरस (कोविड-19) पर नए-नए शोध सामने आ रहे हैं हाल ही में दो अमेरिकी शोधकर्ताओं फिलिफ एनफिनर्ड और एड्रीयन बॉक्स ने अपने शोध (coronavirus latest news) में एक नई बात बताई है कि बातचीत से भी कोविड-19 अर्थात कोरोनावायरस का प्रसार हो रहा है | अमेरिकी शोधकर्ताओं ने अपने शोध में लेजर लाइट के उपयोग से तरल कणों का परीक्षण किया, इसमें उन्होंने दावा किया है कि मुंह से निकलने वाले तरल कणों के माध्यम से भी कोरोना वायरस एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैल सकता है |

फिलिफ एनफिनर्ड और एड्रीयन बॉक्स ने बताया कि जब हम किसी से बात करते है तो इस दौरान तरल कणों के माध्यम से करीब 2600 कण प्रति सेकेण्ड हमारे मुंह से बाहर निकलते हैं |

इन अमेरिकी शोधकर्ताओं ने अपने शोध में कहा है कि केवल एक मिनट तक ऊंची आवाज में बात करने पर विषाणु (वायरस) से युक्त एक हजार से भी अधिक तरल कण उत्पन्न हो सकते है | उन्होंने बताया कि ये विषाणु युक्त तरल कण आकार में बहुत छोटे होने के कारण हमें दिखाई नही देतें है |

इसलिए कोरोना वायरस (corona virus) से बचाव के लिए अपने चेहरे पर मास्क पहनना बहुत अधिक जरूरी है | मास्क पहनने से सामने वाले के मुंह से निकल कर आने वाले तरल युक्त में मौजूद कोरोना वायरस के संक्रमण से बचा जा सकता है |

इस प्रकार अमेरिकी शोधकर्ताओं फिलिफ एनफिनर्ड और एड्रीयन बॉक्स के इस शोध ने यह स्पष्ट कर दिया कि मुँह पर मास्क पहनना अत्यधिक जरूरी है | मास्क पहनकर हम कोरोना वायरस (कोविड-19) के संक्रमण से बहुत हद तक बच सकते है, और इसके प्रसार पर रोक लगा सकते है |

आपको बता दें कि पूरी दुनियां में कोरोनावायरस (covid-19) से संक्रमित लोगों की संख्या 51 लाख से भी ज्यादा हो चुकी है और यह घातक वायरस अब तक तीन लाख से भी अधिक लोगों की जान ले चुका है |

कोरोना वायरस (कोविड-19) अपनी गिरफ्त में आने वाले व्यक्ति के फेफड़ों को संक्रमित कर देता है | प्रारम्भ में कोरोनावायरस से संक्रमित व्यक्ति में कोई लक्षण नही दिखते है | सामान्य तौर पर इस वायरस के लक्षण (कोरोना वायरस लक्षण) दिखने में 5 दिन का समय लग सकता है |

डब्लूएचओ (WHO) ने बताया है कि एक व्यक्ति में कोरोनावायरस के संक्रमण और लक्षण दिखने में 14 दिनों का वक्त लग सकता है |

एक अध्ययन से पता चला है कि केवल 10 मिनट कोरोना संक्रमित व्यक्ति से बात करने मात्र से ही इस वायरस के चपेट में आप आ सकते है | इसलिए सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना बेहद जरूरी है |

कोरोना वायरस (coronavirus) से संक्रमित व्यक्ति में मुख्य रूप से दो लक्षण (corona symptoms) दिखाई पड़ते है, एक बुखार और दूसरा सूखी खांसी | इससे संक्रमित व्यक्ति में साँस लेने मे परेशानी भी देखने को मिल सकती है |

डब्लूएचओ (WHO) द्वारा जारी आकड़ों से स्पष्ट होता है कि इस वायरस से संक्रमित लोगों में ठीक होने वालों की तुलना में मरने वालों की संख्या बहुत कम है | कोरोनावायरस बुजूर्गों, मधुमेह और हृदय सम्बन्धी रोग व अस्थमा से ग्रसित लोगों के लिए ज्यादा घातक है | इन लोगों को बहत सचेत रहने की आवश्यकता है |

भारत में कोरोना वायरस (coronavirus india) के मामले बहुत तेजी से बढ़ते जा रहे है जो कि बेहद चिंता का विषय है | भारत सरकार ने स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग की अपनी वेबसाइट पर कोरोना वायरस (covid19india) से जुड़ी हर महत्वपूर्ण जानकारी (corona cases in india, corona update india) उपलब्ध करायी है, जिसे आप यहाँ पर क्लिक (COVID-19 INDIA) करके देख सकते है |

दुनियां भर के वैज्ञानिक कोरोनावायरस की वैक्सीन (coronavirus vaccine) बनाने में लगे हुए है | लेकिन हम कुछ आवश्यक सावधानी को अपनाकर इस घातक वायरस से बच सकते है (corona virus tips) | जैसे-

  • अपने हाथ नियमित रूप से साबुन व पानी या फिर सैनिटाइज़र से साफ करते रहें,
  • अपने हाथ से आँख, नाक और मुँह को छूने से बचें,
  • बाहर जाते वक्त मुँह पर मास्क जरुर पहने,
  • खांसते व छींकते समय टिशू का प्रयोग करें ,
  • एक बार प्रयोग करने के बाद टिशू को बंद डस्टबिन में फेंककर अपने हाथ साबुन या सैनिटाइज़र से साफ करें ,
  • बीमार या संक्रमित व्यक्ति से जहांतक हो सके दूर रहें |
  • अनावश्यक डॉक्टर, हॉस्पिटल और मेडिकल स्टोर जाने से बचें |
  • बिना किसी जरुरी काम के बाहर न निकलें, घर पर ही सुरक्षित रहें |