एनआईओएस के 18 महीने के डीएलएड कोर्स को मिली एनसीटीई से मान्यता

शिक्षा के अधिकार कानून के तहत जिन 13 लाख से अधिक अप्रशिक्षित शिक्षकों ने एनआईओएस (NIOS – National Institute of Open Schooling) से डीएलएड (D.El.Ed – Diploma in Elementary Education) कोर्स किया था उनको राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद (NCTE – National Council for Teacher Education) ने बड़ी राहत देते हुए उनके 18 महीने के डीएलएड (D.El.Ed) कोर्स को अपनी मान्यता दे दी है | इस प्रकार एनआईओएस द्वारा कराया गया यह डीएलएड कोर्स अब सरकारी नौकरी के लिए मान्य होगा | अब यह कोर्स करने वाले अप्रशिक्षित शिक्षक आने वाली किसी भी शिक्षक भर्ती में आवेदन कर सकते है |

आपको मालूम हो कि वर्ष 2019 में एनसीटीई ने एनआईओएस अर्थात राष्ट्रीय मुक्त विद्यालय शिक्षा संस्थान के 18 महीने के डीएलएड (D.El.Ed) कोर्स करने वाले अप्रशिक्षित शिक्षकों को शिक्षक भर्ती के लिए पात्र नहीं माना था जिसके विरोध में यें अप्रशिक्षित शिक्षक कोर्ट चले गए थें |

पटना उच्च न्यायालय ने एनसीटीई के फैसले को गलत मानते हुए अमान्य करार दिया था | इसके बाद एनसीटीई ने अपील नहीं की | इसी आधार पर मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने पटना हाईकोर्ट के आदेश को मान लिया है |

मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक (Union Cabinet Minister for Human Resource Development, Government of India) ने ट्विटर (twitter) पर यह जानकारी दी कि एनसीटीई ने शिक्षकों की भर्ती में एनआईओएस के 18 महीने के डीएलएड कोर्स को पूर्ण रूप से मान्यता दे दी है |

एनसीटीई ने भी बिहार राज्य समेत अन्य राज्यों को पत्र के द्वारा यह सूचना दे दी है कि एनआईओएस से ट्रेनिंग लेने वाले सभी अप्रशिक्षित शिक्षकों को मान्यता मिल गई है इस प्रकार लंबे समय से चले आ रहे इस विवाद का अंत हो गया |

एनआईओएस से डीएलएड कोर्स को करने वाले करीब 13 लाख से अधिक शिक्षकों को एनसीटीई के इस निर्णय से एक बहुत बड़ी राहत मिली है अब वह भी शिक्षक भर्ती में आवेदन कर सकते हैं |

यें भी पढ़ें –